Monday, 10 September 2018

Why PETROL Price So HIGH In Indian Today Petrol Price Rate


Petrol Rate
Today Petrol Rate


तो दोस्तों जहा मैं रहता हूं यानि की Gorakhpur Uttar Pardesh वहाँ पे आज के दिन Petrol का Rate ₹ 80.05

Per Liter और Diesel का Price Rate है ₹ 72.22 Per Liter लेकिन रुको रुको कभी सोचा है ये Petrol का ये

Price बनता कैसे है और बढ़ता कैसे है और जब ये ऐक बार बढ़ जाता है तो ये कम क्यों नहीं होता है  देखो ये जो

Petrol Diesel है ये हम India में नहीं बना सकते हमको Krud Oil जो है उसे खरीदना पड़ेगा इसको बनाने के

लिए और ये Krud Oil है हम बाहर की Cuntrey से Import करते है India में तो 80% के आस पास Krud Oil

हम बाहर से मंगाते है और ये जो Krud Oil है ये Bairel में आता है अब ऐक Bairel के अंदर आता 1509 Liter

और ऐक Bairel की Cost Internation Market में चल रही है आज की Date में 86.73$ अब आप मान लो

Doller की Cost जो है 67 के आस पास ये जो Krud Oil है 37 ₹ का इसको Refine करते है फिर Petrol अलग

निकलता है Diesel अलग निकलता है जो Petrol है उसको रेफिने करने के बाद आपको मान लो 39 से 40

रूपीस पड़ जाता है इस Delar को जो भी Refine कर के उसको बहार निकाल रहा है तब ये ₹40 का Petrol जो

है आपके पास आते आते ₹83 का हो जाता है या ₹80 का हो जाता है क्यों हो जाता है क्योंकि इसके ऊपर जो

लगभग लगते है Taxes जो सबसे पहला Tax लगाती है वो है हमारी Central Goverment जिसका नाम है Excise

Duty जो की 19.48 रूपीस के आस पास हर लीटर पे जितने लीटर आप डालोगे हर लीटर का ₹20 उनको ₹19

से ₹20 Central Goverment को Taxs जा रहा है अब इसके बाद आपका जो Petrol है और बढ़ गया उसके बाद



जो Delar है जो Petrol Pump से आप लेते हो Bharat Petrol Pump है Hindustan Petrop Pump है जो भी है


वहाँ का Cost है Delar की जो Margin का Cost है वो 3 से 4 रूपए के आस पास है यहाँ जो 3,4 रूपए हो गए

Delar का Margin उसके बाद Central Goverment का Tax अब उसके बाद Delar का Margin अब यहाँ हर

स्टेट में जायेगा Petrol तो हर State ने अपने Level पे पैसे कमाने के लिए अलग अलग Taxes बनाये हुए है तो

जहाँ मैं रहता हूं Gorakhpur वहाँ पे 28% के आस पास Vaite लगता है Petrol के ऊपर मतलब देखो Central

Goverment ने पैसा ले लिया अब मेरी State Goverment अलग पैसा लेगी तो घुमा फिरा के ऐसे करते करते जो

40 रुपये का Petrol है वो बन जाता है 83 रुपये का या 80 रुपये अब आप बोलोगे भाई Taxs से रहे हो तो अच्छी

बात है न Goverment के पास पैसा आ रहा है तो Road बनाएंगे ये करेंगे वो करेंगे चलो सही बात है Taxs भी देना

चाहिए और ये तो ऐक हमर हक है कि हम Taxs दे ताकि Goverment हमारे पैसे से चले लेकिन देखो आपको ये

चीज़ शायद नहीं पता है यहाँ पे जो Krud Oil है यहाँ पे आप 2012/2013 में चले जाओ वहाँ पे 118₹ Per Bireal

का चलता था और अभी तो जो है 80$ के आस पास है Per Baireal तो हुए क्या जब ये ज्यादा था मतलब 118$ था

वहा पे जो Exside Duty Taxs जो वो कम था लेकिन हुआ क्या ये जो Baireal था जो Market में इसका Cost था

वो नीचे होता गया तो हमारी Goverment ने 2014 के बाद इसका Rate बढ़ाते गये मतलब की Exside Duty बढ़

गयी Taxes बढ़ गये और ये जो है जहाँ से वो खरीद रहे वो कम हो गया इससे हुआ क्या की जो पेट्रोल का Price

था वो Stable रहा यानि की 3 साल तक आपको Petrol Same Rate पे मिला थोड़ा सा Flacubation हुआ लेकिन

हुआ क्या Internation Market में Petrol के दाम कम हुऐ थे लेकिन हमारी गवर्मेंट ने Taxs बड़ा दिये उससे

आपको ऐक फ्लैट रेट मिल गया अब हो क्या रहा है ये जो Rate कम हुऐ थे अब ये Rate बढ़ने लगे उन्हें Taxs तो

ऐक बार बढ़ा दिए पर किसी पे ऐक बार Taxs बढ़ जाता है तो कम तो होता नहीं है तभी ऐक Taxs के साथ

हमको ज्यादा रूपए देने पद रहे है पेट्रोल के लिए घुमा फिरा के बोले तो ये Krud Oil का Price जब काम हुआ

था तो Goverment ने Taxes बढ़ा दिये लेकिन ये जब Price बढ़ रहा है तो Goverment Taxs कम नहीं कर रही है

यही Reason है कि हमारा Petrol जो है बढ़ते चले जा रहा है क्योंकि आज काल जो Petrol है वो हर दिन उसका



Price Decide हो रहा है तो दिक्कत यही पे आ रही है जो Taxs को कम होना चाहिये  क्योंकि जब Price बढ़ गया

वो चीज़ नहीं हो रही है और आपको पता है 2014 और 2015 में Goverment को 99 Thousant करोड़ का Profit

हुआ था इनमे Taxs से जब Krud Oil कम हो गया उन्हें Taxs बढ़ा दिया तो अगले साल 2016 और 2017 के

अंदर इनको 2 लाख करोड़ का Profit हुआ है Exside Duty  से Central Goverment को मतलब इनका Profit

Double हो गया ।।। 99 Thousand करोड़ से 2 लाख करोड़ तो जब इनके पास ज्यादा पैसा आ गया तब ये Tax

कम कर सकते है But Tax कम नहीं कर रहे है क्योंकि अगर ये 1₹ भी टैक्स कम करते है तो Petrol के ऊपर या

Diesel के ऊपर तो इनको जो 1300 करोड़ का Loss हो जायेगा अब यहाँ पे ये फस गये इन्हें Prices तो बढ़ा दिये

क्योकि Krud Oil कम हो रहा था ।।  अब जब Krud Oil बढ़ रहा है तो उनको Tax कम करना चाहिये लेकिन ये

चीज़ Tax कम नहीं हो रही है अब देखो येकी की मैं आपको कहूंगा आप किसी को 5₹ देते हो 10₹ देते हो अब

उससे पूछते हो भैया क्या खर्चा किया कितना बचा यहाँ पे हम भर भर के Tax देते है 1 लाख की Road जो 10/10

Crore में बन जाती है कि ये पुल टूट जाते है ये हो जाते है हम किसी के Question नहीं पूछते है आज जो

आजकल माहौल चल रहा है ऐसा चल रहा है आप ने अगर किसी से Question पूछ लिया तो Entinationlist हो

गये आपको Pakistaan भेज दिया जायेगा ये कर देंगे वो कर देंगे यही ऐक Reason है जो हमारी Media है वो

हमारे Goverment से Question नहीं पूछ रही हमको अलग अलग जगह Mind Divert कर रही है और बहुत

सारी News Channel पता है आपको क्या दिखा रही है कि Petrol का Price India में सबसे सस्ता है बाकी

Cuntrey में ज्यादा है भैया आप क्या बता रहे हो क्या कर रहे हो वो तो सब Mind Wasing वाली काम चल रही है

आपका Mind Wash कर रहे है लेकिन ये सब अपना Topic नहीं है अपना Topic ये है Petrol का Price क्यों बढ़

रहा है और क्यों कम हो रहा अब देखते है क्या पता Goverment जो है उनको इतना Revenue हो गया ज्यादा ही

Revenue हो गया इस बार तो क्या पता इस बार वो Tax कम कर दे लेकिन अगर भाई Petrol GST में आ जायेगा

ना तो Petrol बहुत सस्ता हो जायेगा लेकिन ये लोग GST में नहीं लयने देंगे क्यों की बहुत ज्यादा मोटी मोटी

कमाई State Goverment को भी हो रही है उसके बाद Central Goverment को भी हो रही है Petrol से 40 की

चीज़ आप 80 में बेच रहे हो दिन में कितने बिकता होगा इतने करोड़ रूपए जा रहे है कि क्यों GST लगा के

Petrol का Price कम कर के उनका Revenue कम करेगा  बात तो वही है न Goverment को तो पैसा कमाना है

और पैसा कमाने के बाद आपको बताती भी नहीं है ।।  की वो पैसा खर्चा खा हुआ घुमा फिरा के हमको क्या लेना

देना भाई Petrol बढे या ना बढे हमको तो किसी से Question पूछना नहीं है हमको तो बस Petrol Pump पे जाना

है और बोलना है भैया 100 का डाल देना 200 का डाल देना

अगर आपको ये Post अच्छा लगा हो तो Share कीजिये और Notification Bell Icon जरूर On करे ।।।

0 comments: